Follow by Email

Monday, 22 June 2015

बिना दवा सेहत सही, तन मन रहे निरोग-

योगी भोगी योगमय, अच्छा है संयोग |
बिना दवा सेहत सही, तन मन रहे निरोग |
तन मन रहे निरोग, दवा के बचते पैसे |
फिर भी हैं कुछ लोग, मिले हैं ऐसे-वैसे |
इनमे से ही एक, मिला है रविकर ढोंगी |
करता हर दिन योग, किन्तु है बड़ा वियोगी ||

8 comments:

  1. बेह्तरीन अभिव्यक्ति !शुभकामनायें
    कुछ अपने विचारो से हमें भी अवगत करवाते रहिये.

    ReplyDelete
  2. उपयोगी और प्रेरक कुण्डलिया।

    ReplyDelete
  3. ढोंगी करता भोग योग करता है योगी
    रविकर नहीं 'उलूक' एक छोड़ सारे ही योगी ।

    ReplyDelete