Follow by Email

Wednesday, 4 June 2014

रविकर मीठा बोल, नित्य धोखा दे जाता-

गुस्सा आता है जिन्हें, उनको सच्चा मान |
झूठे लेकर घूमते,  मुखड़े पर मुस्कान |

मुखड़े पर मुस्कान, चार सौ बीसी करते |
मुख में रहते राम, बगल में छूरी धरते |

रविकर मीठा बोल, नित्य धोखा दे जाता |
वह तो है अतिधूर्त, उसे कब गुस्सा आता -

4 comments:

  1. मुखड़े पर मुस्कान, चार सौ बीसी करते |
    मुख में रहते राम, बगल में छूरी धरते |
    haan hamare babaji bhi hamse yahi kahte the .nice

    ReplyDelete
  2. बहुत दिनों के बाद ....!! सुन्दर कुण्डलियाँ ..

    ReplyDelete