Follow by Email

Wednesday, 4 May 2011

हारेगा

    (1)
भरे पड़े  हैं चप्पल खोर
बहुत घूमते  थप्पड़खोर   
बुरी  मौत  ही मारे जाते 
सब के सब ये आदमखोर
           

No comments:

Post a Comment