Follow by Email

Monday, 25 April 2011

सत्य साईं

           सत्य साईं को मेरे जीवन का पहला प्रणाम
अ)  आपके जीवन में आप  की  कोई  इच्छा आपके सोचते ही अवश्य पूरी हुई होगी.
ब) आत्मा परमात्मा में विलीन हो जाती है.
स) सत्य साईं ऐसे ही महापुरुष हुए जिनकी आत्मा परमात्मा के बेहद करीब थी. 
द) और बिंदु (अ) पर किये गए सतत एवं सात्विक प्रयास ने उन्हें भगवान बना दिया. 

                                                (1) 

सन्त-महन्त 
दीन-दुखियों का दर्द करके दूर 
परोपकार से 
बन जाते भगवन्त  
परन्तु इनमे से कुछ 
है लगन्त
हाँ, लगन्त 
सचमुच महाचंट
                                            (2)

कल कलमाड़ी 
को मिला कामन-वेल्थ में मेडल
दरअसल हो रहा था डोप-टेस्ट 
ही इज द बेस्ट 
देर है अंधेर नहीं 
अब आज 
खुलेंगे राज  
जायेंगे कइयों के सिर 
कइयों के ताज


No comments:

Post a Comment