Follow by Email

Wednesday, 17 April 2013

ठोको कील शकील के, बके बयान कमाल-


धमाचौकड़ी धमाके, माँ के बाँके लाल । 
ठोको कील शकील के, बके बयान कमाल । 
बके बयान कमाल, माल से वोट कमाओ । 
धरा खून से लाल, लाल पी एम् बनवाओ । 
समझौता नक्सली, दोस्त आतंकी आओ । 
मारो पब्लिक धूर्त, दुबारा चलो जिताओ ॥ 


उपेक्षित होने का दर्द कहलवा रहा है दूसरे ब्लॉगों को Bakwas

DR. ANWER JAMAL 
 Blog News   
बच्ची बच्चा बस बचा, चचा चची का जोर । 
धमाचौकड़ी ले मचा, नचा रहा मन-मोर । 

नचा रहा मन-मोर, मुबारक क्लिक किलकारी । 
लिखते ब्लॉग करोर, किन्तु कुछ ही नर नारी । 
डालें व्यापक छाप, छाप कर झूठी सच्ची । 
कर रविकर तू वोट,  जियें कुल बच्चा बच्ची ॥ 

7 comments:

  1. वाह !!! बहुत बेहतरीन रचना,आभार,

    ReplyDelete
  2. बहुत सुन्दर गुरूजी :)

    कभी यहाँ भी पधारें और लेखन भाने पर अनुसरण अथवा टिपण्णी के रूप में स्नेह प्रकट करने की कृपा करें |
    Tamasha-E-Zindagi
    Tamashaezindagi FB Page

    ReplyDelete
  3. बहुत सुन्दर प्रस्तुति!
    आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि-
    आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा आज बृहस्पतिवार (18-04-2013) के दुआ करो किसानों के लिए ( चर्चा - 1218 ) (मयंक का कोना) पर भी होगी!
    नवरात्रों की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ!
    माँ कालरात्रि आप सबका कल्याण करें!
    सूचनार्थ...सादर!

    ReplyDelete
  4. जगह जगह से चुनकर आपने बहुत अच्छे लिंक्स इकठ्ठा किये हैं.

    'ब्लॉग की खबरें' वाली पोस्ट को स्थान देने के लिये शुक्रिया.

    ReplyDelete