Follow by Email

Saturday, 20 April 2013

शील-भंग दुष्कर्म पर, चुप शीला-सरकार-



दारुण-लीला होय, नारि की अस्मत लीला-

My ImageAuthor dr. ayaz ahmad


दाग लगाए दुष्टता,  पर दिल्ली दिलदार ।
 शील-भंग दुष्कर्म पर,  चुप शीला-सरकार
। 

चुप शीला-सरकार, मिनिस्टर सन्न सुशीला । 
दारुण-लीला होय, नारि की अस्मत लीला । 

नीति-नियम कानून, व्यवस्था से भर पाए । 
पुलिस दाग के तोप, दाग पर दाग लगाए ॥





Virendra Kumar Sharma 

हुक्का नियमित गुड़गुड़ा, हुकुर-पुकर कर साँस |
नित बीडी सिगरेट सा, मौत बुलाये पास |
 
मौत बुलाये पास, रास क्योंकर आता है |
बढ़ जाता क्या रोब, तरस रविकर खाता है |
 
हुक्का-पानी बंद, जोर का मारो मुक्का |
कर तम्बाकू  दूर,  दूर कर बीड़ी हुक्का || 



जीते यहाँ कुरूप, हारता हेलो हैंडसम

Saudi Arabia Reportedly Deports Men for Being ‘Too Handsome’ 

हेलो हैंडसम अरब में, मत करना घुसपैठ |
पुलिस खदेड़ेगी तुम्हें, कान तुम्हारें ऐंठ |

कान तुम्हारें ऐंठ, फिकर उनको है भारी |
कहीं फिसल ना जाय, वहाँ की सारी नारी |

पर रविकर खुशहाल, वहाँ रह सकता बम बम |
जीते यहाँ कुरूप, हारता हेलो हैंडसम ||


8 comments:

  1. सटीक प्रहार करती आक्रामक प्रस्तुति

    ReplyDelete
  2. सार्थक प्रस्तुति!
    --
    बहुत निन्दनीय कृत्य है दिल्ली की ये घटना!

    ReplyDelete
  3. सटीक-- सार्थक प्रस्तुति!

    ReplyDelete
  4. नीति-नियम कानून, व्यवस्था से भर पाए ।
    पुलिस दाग के तोप, दाग पर दाग लगाए ॥

    बहुत सटीक तंज .

    ReplyDelete
  5. सारी सृष्टि ही विकार ग्रस्त हो गई है आत्मा जंग लगा लोहा बन गल रही है .धत कर्म का भी जल्दी सर्वनाश होगा ,पुलिसिया एहंकार का भी .आखिर वर्दी धारी ACP का युवती को चांटा मारना भी अब रंग दिखाएगा ही .

    ReplyDelete
  6. बहुत सटीक प्रस्तुति...

    ReplyDelete
  7. उत्कृष्ट प्रस्तुति .

    ReplyDelete