Follow by Email

Sunday, 15 December 2013

लोकपाल पर आ गया, बढ़िया यह संजोग -



पापा कहते हड़बड़ा, नाम करेगा पूत -



पापा कहते हड़बड़ा, नाम करेगा पूत |
गली मुहल्ला घर त्रसित, असहनीय करतूत |

असहनीय करतूत, शिकायत हर दिन आये |
तोड़-फोड़ खिलवाड़, फटे में टांग अड़ाए |

तोड़ा रेस्टोरेंट, जला के चौखट तापा |
बड़ा करेगा नाम, बोल बैठे तब पापा ||

AAP asks clarification on 17 Points from BJP Congress seeks 10 days to decide on Gov. Formation

SM

From Politics To Fashion 


प्रोपेगंडा कर रहे, शर्त अनाप-शनाप |
वोट-बैंक में वृद्धि हित, लगे रात-दिन आप |

लगे रात दिन आप, पिछड़ती जाए दिल्ली |
देखो छींका टूट , भाग्यशाली यह बिल्ली |

इक इमान की बात, बनाया बढ़िया फण्डा |
नहीं करेंगे काम, करेंगे प्रोपेगंडा ||  


दिल्ली थोड़ी दूर बस, बस देगी पहुंचाय-


आशा अपने राम को, नारायण आशीष । 
खड़ा बड़ा साम्राज्य हो, दर्शन की हो फीस । 
जोड़े रकम अकूत । 
नाम करेगा पूत ।। १॥ 

राहु-केतु लेते चढ़ा, खींच खींच आस्तीन । 
दोष दूसरे पर मढ़े, दंगाई तल्लीन ।  
जीते पर यमदूत । 
नाम करेगा पूत ॥ २॥ 

छींका टूटा भाग्य से, बिल्ली गई अघाय । 
दिल्ली थोड़ी दूर बस, बस देगी पहुंचाय । 
दिखे आप मजबूत। 
नाम करेगा पूत ॥ ३॥ 

अनशन पर आये नहीं, यद्दपि ज्यादा लोग । 
लोकपाल पर आ गया, बढ़िया यह संजोग । 
रविकर कर करतूत । 
नाम करेगा पूत ॥ ४ ॥ 




मत'वाले ये चार, फतह दिल्ली कर लेते -

गोटी कर दे लाल जो, झाड़ू दिया बुहार |
हार गले में डालके, मत'वाले ये चार |

मत'वाले ये चार, फतह दिल्ली कर लेते |
खा के मीठे आम, गुठलियां पकड़ा देते |

इत रोटी भी नाँय, उधर रोटी पर बोटी |
उत डीलक्स उड़ान, भूत की इधर लँगोटी ||

5 comments:

  1. आपकी इस सुन्दर प्रविष्टि की चर्चा कल मंगलवार १७/१२/१३को चर्चामंच पर राजेश कुमारी द्वारा की जायेगी आपका वहाँ हार्दिक स्वागत है ---यहाँ भी आपका स्वागत है --वार्षिक रिपोर्ट (लघु कथा )
    Rajesh Kumari at HINDI KAVITAYEN ,AAPKE VICHAAR -

    ReplyDelete
  2. आशा अपने राम को, नारायण आशीष ।
    खड़ा बड़ा साम्राज्य हो, दर्शन की हो फीस ।
    जोड़े रकम अकूत ।
    नाम करेगा पूत ।। १॥

    बहुत खूब .

    ReplyDelete