Follow by Email

Thursday, 29 September 2011

डिफरेंसेज पाटा |

 कागज़ परकाटा 
टू  जी  जो बांटा
गीला  सा  आटा 
करेजवा  फाटा

India's Finance Minister Pranab Mukherjee at an election rally in Bihar.
मैया   ने   डाटा 
 
दिखलाया चाटा 
सैर  न  सपाटा 
कर ले तू टाटा-- 
वापसी फटाका 
भूल गया घाटा 
डिफरेंसेज पाटा 
ज्वार न भांटा 
छाया सन्नाटा ||

8 comments:

  1. मैया ने डाटा ,निर्बुद्ध हुआ फर्राटा
    रविकर कहे समुझाय बात कहे साँची

    ReplyDelete
  2. सारी बातें ऐसे ही पट जाती हैं ..यथार्थ को कहती सच्ची रचना

    ReplyDelete
  3. वाह रविकर जी! वाह वाह !!

    ReplyDelete
  4. सुंदर भाव..खूबसूरत अभिव्यक्ति

    नवरात्रि पर्व की बधाई और शुभकामनाएं-मंगलकामनाएं !

    ReplyDelete
  5. सटीक अभिव्यक्ति ...

    ReplyDelete
  6. चोर-चोर मौसेरे भाई होते हैं। differences ख़तम कर एकजुट होकर देश को चूना लगाते हैं।

    ReplyDelete