Follow by Email

Thursday, 29 August 2013

चूजा के पीछे पड़ा, भाषण प्रवचन भ्रष्ट


यूपी के सपा नेता कॉल गर्ल्स के साथ मस्ती करते गिरफ्तार



चूजा के पीछे पड़ा, भाषण प्रवचन भ्रष्ट |
कोई गोवा बीच पर, गया मिटाने कष्ट |

गया मिटाने कष्ट, मस्तियाँ मार बराबर |
गुंडागर्दी देख, डरा जाता है रविकर |

उत्तर नहीं प्रदेश, काम की होती पूजा |
रति अनंग हैं मस्त, ढूंढ़ता मुर्गा चूजा ||



वंशीधर का मोहना, राधा-मुद्रा मस्त । 
नाचे नौ मन तेल बिन, किन्तु नागरिक त्रस्त । 

किन्तु नागरिक त्रस्त, मगन मन मोहन चुप्पा । 
पाई रहा बटोर, धकेले लेकिन कुप्पा । 

बीते बाइस साल, हुई मुद्रा विध्वंशी । 
चोरों की बारात, बजाये रविकर वंशी ॥ 


नौ दो ग्यारह होय, निवेशक धन बहु-रूपया

रूपया छा-सठ में फँसा, उन-सठ से हैरान |
इक-सठ कब से मौन है, अड़-सठ सड़-सठियान |

अड़-सठ सड़-सठियान, तीन-तेरह हो जाता |
तीन-पाँच हर वक्त, पञ्च-जन माल खपाता |

मची हुई है लूट, रपट आती है खुफिया |
नौ दो ग्यारह होय, निवेशक धन बहु-रूपया ||


वे आतंकी रुष्ट, व्यर्थ हो जिनकी कसरत -

कसरत सी बी आय की, हो जाती बेकार |
मरती इशरत-जहाँ में, मोदी सर की कार |

मोदी सर की कार, बोल बैठा अमरीका |
लोहे की हे-डली, फ़िदायिन का ले ठीका |

सोमनाथ पर दृष्टि, उड़ाने की थी हशरत |
वे आतंकी रुष्ट, व्यर्थ हो जिनकी कसरत - 

कैसे मुद्रा-पस्त, नहीं घर में हैं दाने-

कैडर से डर डर करे, कैकेयी कै-दस्त |
कैटभ कैकव-अपर्हति, कैसे मुद्रा-पस्त |

कैसे मुद्रा-पस्त, नहीं घर में हैं दाने |
कोंछे में वंचिका, चली जा रही भुनाने |

आये नानी याद, चाल चल रही भयंकर |
दे गरीब के नाम, करे खुश लेकिन कैडर ||

 कैकव-अपर्हति=असली बात बहाने से छिपाना 


भारत सरकार और डॉलर में होगी सीधी वार्ता

Kulwant Happy

बावन गज के थे सभी, लागा लंक कलंक |
रावण संरक्षक हुआ, तब से रहें सशंक |

तब से रहें सशंक, चला उन-सठ से आगे |
इक-सठ मोहन-मौन, करोड़ों लुटे अभागे |

डालर की अरदास, मिनट दो बारह बज के |
पर लौटे ना पास, कभी वह बावन गज के ||

5 comments:

  1. वाह वाह !
    अब तो मैडल पक्का
    कुर्सी भी पक्की
    आई ऎ एस थोडे़ है
    जो निकाल दिया जायेगा !

    ReplyDelete
  2. :)
    आभारी हूँ !!
    मैंढक तो कुऎँ में गिरे रुपिये को
    सोच रहा था कौन उठायेगा
    उसे कहाँ पता था रविकर
    उसे यहाँ तक खींच के ले आयेगा !

    ReplyDelete
  3. अच्छे लिंक्स!
    अच्छे लिक्खाड़!

    ReplyDelete