Follow by Email

Thursday, 22 November 2012

वंचक दें उपदेश, गालियाँ हुई हकीकत-


"नमन शैतान करते हैं" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) 

तान तान शैतान ने, तानपुरा के तार |
बाजा बेसुर बजा के, रुला दिया संसार ||



रहता काशी ताक, कभी नहिं ताके काबा -रविकर

बाबा बड़का तोपची, बप्पा तीरंदाज ।
मार सका नहिं मेंढकी, चला गिराने गाज ।
चला गिराने गाज, गलत होता अंदाजा ।
समझा जिसको साज, बजा जाये वो बाजा ।
रहता काशी ताक, कभी नहिं ताके काबा ।
संस्कार कमजोर, भरे भीषण भय बाबा ।।




 शाश्वत शिल्प

 हुई हकीकत खोखली, विकल आत्मा व्यस्त |
समय नहीं आकलन का, मनुज देह भी मस्त |
मनुज देह भी मस्त, धर्म की धीमी धड़कन |
परम ब्रह्म को भूल, दिखाती रहे अकड़पन |
बचा ब्रह्म अस्तित्त्व, नहीं तो होगी दिक्कत |
वंचक दें उपदेश, गालियाँ हुई  हकीकत ||

इन दिनों - भाग तीन

"अनंत" अरुन शर्मा 
 दास्ताँने - दिल (ये दुनिया है दिलवालों की) 

फरियादी के दर्द से, इनका क्या सम्बन्ध ?
जलवे से जलता जगत, ठगी मुहब्बत अंध |
ठगी मुहब्बत अंध, मशीनें बनती काया |
मरा सुकोमल भाव, ग़मों में सदा डुबाया |
करुण अरुण जा चेत, बड़ी जालिम बेदादी |
आदी कातिल जान,  मरा रविकर फरियादी ||

THE LIGHT OF AYURVED
मिश्रण काली मूसली, शहद वंग की भस्म ।
शीघ्र-पतन में लाभकर, निभा ढंग से रस्म ।



ब्लॉगर्स का संशय बना मुसीबत--मदद करें कृपया !

ZEAL 
 ZEAL 

शंका हो जाये अगर, कठिन निवारण होय ।
घने अँधेरे में डगर, खुद से जाती खोय ।

"कार्टून-लालबत्ती" (कार्टूनिस्ट-मयंक खटीमा)

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) 
खाली करवाए तुरत, सही चुकावो दाम ।
 फ़ार्म हाउस बंगला बड़ा, घर जमीन का काम ।
घर जमीन का काम, नाम धारी है बडका ।
मुर्ग-मुसल्लम खाय, भाय नहिं इसको तड़का ।
तड़के पॉन्टी मौत,  चुकाए दाम मवाली ।
जलती बत्ती लाल,  करे खुद गाड़ी खाली ।।

हिन्दुस्तान में सज़ा ए मौत बाक़ी रहे या इसे ख़त्म कर दिया जाए ? Kasab:Hang Till Death -DR. ANWER JAMAL

Dr. Ayaz Ahmad 

 फांसी का भय भी नहीं, लगता अब पर्याप्त ।
त्रस्त आम-जन हो रहे, खून-खराबा व्याप्त ।
खूनखराबा व्याप्त, मरें निर्दोष करोड़ों ।
धरा चाहती शान्ति, दण्ड को नहीं मरोड़ो ।
मानवता की हार, बचे नहिं काबा काशी ।
धारदार कानून, ख़त्म क्यूँ करना फांसी ।।

6 comments:

  1. लालबत्ती को भी नहीं छोड़ा!
    आभार आपका!

    ReplyDelete
  2. वाह क्या बात है रविकर सर ह्रदय गद-2 हो गया प्रभु बधाई स्वीकारें मुझे शामिल किया अनेक-2 धन्यवाद

    ReplyDelete
  3. मिश्रण काली मूसली, शहद वंग की भस्म ।
    शीघ्र-पतन में लाभकर,निभा ढंग से रस्म ।

    बहुत बढ़िया प्रस्तुति,,,,रविकर जी बधाई,,

    ReplyDelete
  4. बेहतरीन प्रस्‍तुति ...

    ReplyDelete
  5. Thanks for lovely links Ravi ji.

    ReplyDelete
  6. GYanesh Kumar
    THE LIGHT OF AYURVED
    मिश्रण काली मूसली, शहद वंग की भस्म ।
    शीघ्र-पतन में लाभकर, निभा ढंग से रस्म ।

    हकीम तुर्कमान के नुस्खे परोस दिए आज तो भाई .

    ReplyDelete