Follow by Email

Friday, 19 October 2012

कौन रविकर ब्लॉग पर जा टिप-टिपाया-




कहलाने एकत बसें ,अहि ,मयूर ,मृग ,बाघ जगत तपोवन सा हुआ ,दीरघ दाघ ,निदाघ

Virendra Kumar Sharma 

गटक गए जब गडकरी, पावर रहा पवार |
खुद खायी मुर्गी सकल, पर यारों का यार |
पर यारों का यार, शरद है शीतल ठंडा |
करवालो सब जांच, डालता नहीं अडंगा |
रविकर सत्ता पक्ष, जांच करवाय विपक्षी  |
जनता लेगी जांच, बड़ी सत्ता नरभक्षी ||

भगवान् राम की सगी बहन की पूरी कथा - आप जानते हैं क्या ?? 
मत्तगयन्द सवैया
संभव संतति संभृत संप्रिय, शंभु-सती सकती सतसंगा ।
संभव वर्षण  कर्षण कर्षक, होय अकाल पढ़ो मन-चंगा ।

पूर्ण कथा कर कोंछन डार, कुटुम्बन फूल फले सत-रंगा ।
स्नेह समर्पित खीर करो, कुल कष्ट हरे बहिना हर अंगा ।।

जय जय भगवती शांता परम 


मूतें दिल्ली मगन, उगे खुब कुक्कुर मुत्ते -
कुत्ते चोरों से मिलें, पहरा देगा कौन ।
कुत्ते कुत्ते ही पले, कुत्तुब ऊंचा भौन ।  
कुत्तुब ऊंचा भौन, बड़े षड्यंत्र रचाते ।
बढ़िया पाचन तंत्र, आज घी शुद्ध पचाते ।
मूतें दिल्ली मगन, उगे खुब कुक्कुर मुत्ते । 
सौ दर्पण रख सदन, भौंक मर जइहैं कुत्ते ।

उल्लुओं ने शाख पर डेरा जमाया ।
लल्लुओं ने साख पर बट्टा लगाया ।|

बन कमीनी पुलिस घूमे ब्लॉग पर नित 
कौन रविकर ब्लॉग पर जा टिप-टिपाया ।।

6 comments:

  1. पसरे सौष्ठव चेतना, अधिक देह पर ध्यान ।

    अमृत से महरूम है, वह नन्हीं सी जान ।


    वह नन्हीं सी जान, मान ले मेरा कहना ।


    स्तन-पान संतान, करे जो तेरा बहना ।


    शिशू निरोगी होय, घटे कैंसर के खतरे ।


    बाढ़े शाश्वत प्रेम, नहीं बीमारी पसरे ।|स्तन पान एक फायदे अनेक .


    कबीरा खडा़ बाज़ार में


    वीरू भाई कवि -हृदय
    इटली का दामाद, बना भारत का जीजा ।
    पासपोर्ट पे फ्री, लगा इटली का वीजा ।

    चाँदी कूटे सिंह सियार सलमान डिसूजा
    भाई भतीजावाद, पार्टी पास्ता पीजा ।।

    होंठ भींच कर रखो जोर से तेरी बारी -
    नमक डाल जख्मों को उसने खु

    रचा मींजा ।।

    भाई साहब उलटी सीधी चंद पंक्तियाँ लिखकर भेजी ,रविकर जी ने ताल ठोक दी .आशु कवि हैं आप ब्लॉग जगत के .वीरुभाई .
    WEDNESDAY, 17 OCTOBER 2012

    साधारण सा ब्लॉग, मिले दो सौ हिट दिन में-रविकर

    http://dineshkidillagi.blogspot.com/

    ये हैं ब्लॉग जगत के आशु कवि रविकर (दिनकर जी ),ब्लॉग चक्रधर .बधाई इस अप्रतिम रचना के लिए .


    बन कमीनी पुलिस घूमे ब्लॉग पर नित-
    उल्लुओं ने शाख पर डेरा जमाया ।

    लल्लुओं ने साख पर बट्टा लगाया ।|

    बन कमीनी पुलिस घूमे ब्लॉग पर नित

    कौन रविकर ब्लॉग पर जा टिप-टिपाया ।।


    बहुत खूब !रविकर जी सभी बासी ताज़ी टिपण्णी आपके ब्लोगों से चिठ्ठों से खान्ग्रेसी

    स्पैम गटक रहा है .

    हम स्पैम मुखी हो गए हैं .

    ReplyDelete

  2. बन कमीनी पुलिस घूमे ब्लॉग पर नित-
    उल्लुओं ने शाख पर डेरा जमाया ।

    लल्लुओं ने साख पर बट्टा लगाया ।|

    बन कमीनी पुलिस घूमे ब्लॉग पर नित

    कौन रविकर ब्लॉग पर जा टिप-टिपाया ।।


    बहुत खूब !रविकर जी सभी बासी ताज़ी टिपण्णी आपके ब्लोगों से चिठ्ठों से खान्ग्रेसी

    स्पैम गटक रहा है .

    हम स्पैम मुखी हो गए हैं .

    ReplyDelete

  3. बन कमीनी पुलिस घूमे ब्लॉग पर नित-
    उल्लुओं ने शाख पर डेरा जमाया ।

    लल्लुओं ने साख पर बट्टा लगाया ।|

    बन कमीनी पुलिस घूमे ब्लॉग पर नित

    कौन रविकर ब्लॉग पर जा टिप-टिपाया ।।


    बहुत खूब !रविकर जी सभी बासी ताज़ी टिपण्णी आपके ब्लोगों से चिठ्ठों से खान्ग्रेसी

    स्पैम गटक रहा है .

    हम स्पैम मुखी हो गए हैं .

    ReplyDelete
  4. पसरे सौष्ठव चेतना, अधिक देह पर ध्यान ।

    अमृत से महरूम है, वह नन्हीं सी जान ।


    वह नन्हीं सी जान, मान ले मेरा कहना ।


    स्तन-पान संतान, करे जो तेरा बहना ।


    शिशू निरोगी होय, घटे कैंसर के खतरे ।


    बाढ़े शाश्वत प्रेम, नहीं बीमारी पसरे ।|स्तन पान एक फायदे अनेक .


    कबीरा खडा़ बाज़ार में


    वीरू भाई कवि -हृदय
    इटली का दामाद, बना भारत का जीजा ।
    पासपोर्ट पे फ्री, लगा इटली का वीजा ।

    चाँदी कूटे सिंह सियार सलमान डिसूजा
    भाई भतीजावाद, पार्टी पास्ता पीजा ।।

    होंठ भींच कर रखो जोर से तेरी बारी -
    नमक डाल जख्मों को उसने खु

    रचा मींजा ।।

    भाई साहब उलटी सीधी चंद पंक्तियाँ लिखकर भेजी ,रविकर जी ने ताल ठोक दी .आशु कवि हैं आप ब्लॉग जगत के .वीरुभाई .
    WEDNESDAY, 17 OCTOBER 2012

    साधारण सा ब्लॉग, मिले दो सौ हिट दिन में-रविकर

    http://dineshkidillagi.blogspot.com/

    ये हैं ब्लॉग जगत के आशु कवि रविकर (दिनकर जी ),ब्लॉग चक्रधर .बधाई इस अप्रतिम रचना के लिए .


    बन कमीनी पुलिस घूमे ब्लॉग पर नित-
    उल्लुओं ने शाख पर डेरा जमाया ।

    लल्लुओं ने साख पर बट्टा लगाया ।|

    बन कमीनी पुलिस घूमे ब्लॉग पर नित

    कौन रविकर ब्लॉग पर जा टिप-टिपाया ।।


    बहुत खूब !रविकर जी सभी बासी ताज़ी टिपण्णी आपके ब्लोगों से चिठ्ठों से खान्ग्रेसी

    स्पैम गटक रहा है .

    हम स्पैम मुखी हो गए हैं .

    ReplyDelete
  5. कहलाने एकत बसत अहि ,मयूर ,मृग ,बाघ जगत तपोवन सो कियो ,दीरघ दाघ ,निदाघ
    Virendra Kumar Sharma
    ram ram bhai

    गटक गए जब गडकरी, पावर रहा पवार |
    खुद खायी मुर्गी सकल, पर यारों का यार |
    पर यारों का यार, शरद है शीतल ठंडा |
    करवालो सब जांच, डालता नहीं अडंगा |
    रविकर सत्ता पक्ष, जांच करवाय विपक्षी |
    जनता लेगी जांच, बड़ी सत्ता नरभक्षी ||.........रविकर फैजाबादी .

    अब देखिये इसी प्रसंग पर अ -बौद्धिक चैनलियों की मति पर एक साहित्यिक तेवर एक कटाक्ष

    एक लघु कथा के रूप में ,वीगीश मेहता जी की कलम से -

    किसी बड़े ख्यात नेता के मुंह पर नाक बह रही थी (बोले तो म्यूकस ,रहट ,नेज़ल डिस्चार्ज ).विनोदप्रिय एक भाजपाई ने कहा -हाय !हाय !इसके मुंह पर नाक है .तो कुख्यात कांग्रेसी नेता को और कुछ न सूझा तो उसने कहा -हाय !हाय !इसके मुंह पर भी नाक है .

    इस बात को अ -बौद्धिक चैनलिया इस तरह ले उड़ा कि हाय !हाय !दोनों के मुंह पर नाक है .

    ReplyDelete
  6. सारे लिंक्स पर आपका लिक्खाड़ मन मोह गया।

    ReplyDelete